हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें
WhatsApp Group Join Now

किसानों को कम ब्याज दर पर मिलता है 3 लाख तक का लोन

 

किसान क्रेडिट कार्ड

 

किसान क्रेडिट कार्ड के जरिए से किसान तीन लाख रुपये तक का लोन ले सकते हैं.

यह योजना ऋण और कृषि कल्याण पर इनपुट के लिए गठित एक विशेष समिति की सिफारिशों पर आधारित थी.

केसीसी किसानों को खेती, फसल और खेत के रखरखाव की लागत को कवर करने के लिए ऋण प्रदान करता है.

 

देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ माने जाने वाले किसानों की आर्थिक स्थिति काफी अच्छी नहीं है.

किसान गांव में किसी से कर्ज लेते हैं, जिसकी वजह से उन्हें बैंकों की अपेक्षा ब्याज अधिक देना पड़ता है.

इन सब समस्याओं को दूर करने के लिए साल 1998 में केंद्र सरकार ने किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) को शुरू किया था, जिससे यह सुनिश्चित किया जा सके कि देश के किसानों को उचित दर पर कर्ज मिले.

योजना की शुरुआत अगस्त, 1998 में हुई थी. किसान क्रेडिट कार्ड के जरिए से किसान तीन लाख रुपये तक का लोन ले सकते हैं.

 यह ऋण और कृषि कल्याण पर इनपुट के लिए गठित एक विशेष समिति की सिफारिशों पर आधारित थी.

केसीसी किसानों को खेती, फसल और खेत के रखरखाव की लागत को कवर करने के लिए ऋण प्रदान करता है.

 

किसान क्रेडिट कार्ड से किस तरह के कर्ज मिलते हैं?

किसान क्रेडिट कार्ड के जरिए से विभिन्न बैंकों द्वारा किसानों को कर्ज की राशि मुहैया करवाई जाती है. इसके तहत कई तरह के कर्ज किसान ले सकते हैं.

इससे वे खेती-किसानी में आने वाली लागत को कम कर सकते हैं और अपनी आर्थिक स्थिति पहले की तुलना में बेहतर कर सकते हैं.

किसान क्रेडिट कार्ड के जरिए से किसानों को इन तरीके के कर्ज मिलते हैं-

  1. फसल के लिए कर्ज
  2. फार्म ऑपरेटिंग लोन
  3. फार्म ओनरशिप लोन
  4. एग्री बिजनेस
  5. डेयरी प्लस स्कीम
  6. ब्रॉइलर प्लस स्कीम
  7. हॉर्टिकल्चर लोन
  8. फार्म स्टोरेज फेसिलिटीस और वेयरहाउसिंग लोन
  9. माइनर इरिगेशन स्कीम
  10. लैंड पर्चेज स्कीम आदि

 

किसान कार्ड के लिए कौन पात्र है?

कोई भी जो कृषि संबद्ध गतिविधियों में लगा हुआ है, वह किसान क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन कर सकता है.

किसान क्रेडिट कार्ड के लिए न्यूनतम आयु 18 वर्ष रखी गई है, जबकि अधिकतम आयु 75 वर्ष होनी चाहिए.

यदि एक उधारकर्ता एक वरिष्ठ नागरिक (60 वर्ष से अधिक आयु) है तो एक सह-उधारकर्ता अनिवार्य है जहां सह-उधारकर्ता कानूनी उत्तराधिकारी होना चाहिए.

 

किसान क्रेडिट कार्ड के लिए कैसे डॉक्युमेंट्स की जरूरत?

अगर आप किसान हैं और क्रेडिट कार्ड की सुविधा लेना चाहते हैं तो आपको कुछ डॉक्युमेंट्स देने पड़ेंगे.

किसान क्रेडिट कार्ड के लिए वोटर आईडी कार्ड और पैन कार्ड या फिर पासपोर्ट, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस आदि जैसे डॉक्युमेंट्स की जरूरत होती है.

इसके अलावा, जमीन के कागजात भी होने चाहिए.

 

किसानों को मिलेगा तीन लाख तक का लोन

किसान क्रेडिट कार्ड के जरिए से किसानों को बेहद कम ब्याज दर पर तीन लाख रुपये तक का लोन आसानी से मिल सकता है. किसान क्रेडिट कार्ड पांच सालों के लिए वैध होता है.

किसान क्रेडिट कार्ड पर सरकार दो फीसदी की छूट देती है और समय पर अगर आप पेमेंट करते हैं तो फिर आपको तीन फीसदी की एक्स्ट्रा छूट दी जाती है.

इन सबको मिलाकर किसान क्रेडिट कार्ड के जरिए से किसानों को महज 4 फीसदी ब्याज दर पर लोन आसानी से मिल जाता है.

 

कैसे करें किसान क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई?

अगर आप किसान हैं और KCC लेना चाहते हैं तो उसके लिए अप्लाई करने का बहुत आसान तरीका है.

सबसे पहले आपको उस बैंक की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा, जहां पर किसान क्रेडिट कार्ड दिया जाता है.

यहां आपको किसान क्रेडिट कार्ड अप्लाई का ऑप्शन दिखाई देगा. यहां मांगी गई सभी डिटेल्स को आपको ध्यान से भरना होगा.

इसमें आपसे नाम, मोबाइल नंबर आदि की जानकारी मांगी जाती है.

फिर आपको सब्मिट बटन पर क्लिक करके ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं. ऐप्लीकेशन प्रोसेस होने में तीन से चार दिनों के वर्किंग डेज लगते हैं.

 

कौन-कौन से बैंक देते हैं किसान क्रेडिट कार्ड?

कई बैंक हैं, जिसके जरिए से आप किसान क्रेडिट कार्ड लोन ले सकते हैं.

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ इंडिया, एक्सिस बैंक, नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) आदि के जरिए से आपको किसान क्रेडिट कार्ड लोन मिल सकता है.

source : aajtak

यह भी पढ़े : गेहूं की कटाई के बाद 60 से 65 दिन में आने वाली ग्रीष्मकालीन उड़द की खेती

 

यह भी पढ़े : फसल बीमा योजना की त्रुटियों के लिए बैंक जिम्मेदार होंगे

 

शेयर करे