हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

3 लाख महिला किसानों को भी मिला आर्थिक सशक्तिकरण

ट्रांसफर हुए 54,000 करोड़ रुपये

 

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने पीएम किसान योजना में महिलाओं की भागीदारी का जिक्र किया.

उन्होंने बताया कि देश की करीब 3 लाख महिला किसानों को 54,000 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए जा चुके हैं.

 

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में महिलाओं की भागीदारी का जिक्र किया.

राष्ट्रपति मुर्मू ने बताया कि देश की करीब 3 लाख महिला  किसानों के बैंक खाते में 54,000 करोड़ रुपये डीबीटी के माध्यम से ट्रांसफर किए जा चुके हैं.

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने बजट सत्र-2023-24 की शुरुआत में अपने एक संबोधन में कहा कि देश के 11 करोड़ छोटे किसान सरकार की प्राथमिकता हैं, जो दशकों से लाभ से वंचित थे. इन किसानों को अब सशक्त किया जा रहा है.

 

3 लाख महिला किसानों को मिला लाभ

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना को दिसंबर 2018 में लॉन्च किया गया था, लेकिन फरवरी 2019 से ही सम्मान निधि की किस्तों का अंतरण चालू हुआ.

इस स्कीम के लाभार्थी किसानों को सालाना 6,000 रुपये की सहायता राशि दी जाती है.

यह रकम दो-दो हजार रुपये की 3 किस्तों में हर चार महीने के अंतराल पर सीधा किसान के बैंक खाते में ट्रांसफर कर दी जाती है.

अभी तक 2.25 लाख करोड़ रुपये किसानों को मिल चुके हैं.

इन लाभार्थियों में 3 लाख महिला किसान भी हैं, जिन्हें 54,000 करोड़ रुपये की सहायता राशि दी जा चुकी है.

 

सरकारक ने चलाईं कल्याणकारी योजनाएं

अपने संबोधन में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि केंद्र सरकार ने किसानों के कल्याण के लिए कई योजनाएं चलाई हैं, जिसमें प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, मृदा स्वास्थ्य कार्ड, किसान क्रेडिट कार्ड शामिल हैं.

इन योजनाओं से पशुपालकों और मछली पालकों को भी जोड़ा गया है. इससे छोटे किसानों भी सशक्त हुए हैं.

इन्हें और भी सशक्त बनाने के लिए किसान उत्पादन संगठनों के गठन से लेकर न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाने तक के फैसले लिए गए हैं.

 

कितने किसानों को मिली पहली किस्त
  • राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने यह बी बताया कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की पहली किस्त के दौरान 3.16 करोड़ लाभार्थी लाभान्वित हुए थे,
  • जबकि दूसरी किस्त में 6.63 करोड़,
  • तीसरी किस्त में 8.76 करोड़,
  • चौथी किस्त में 8.96 करोड़,
  • पांचवी किस्त 10.49 करोड़,
  • छंटवी किस्त में 10.23 करोड़,
  • सातवीं किस्त में 10.23 करोड़,
  • आठवीं किस्त में 11.16 करोड़,
  • नौंवी किस्त में 11.19 करोड़,
  • दसवीं किस्त में 11.16 करोड़,
  • 11वीं किस्त में 11.27 करोड़ और
  • 12वीं किस्त में 8.99 करोड़ रुपये के आसपास सहायता राशि अंतरित की जा चुकी है.

राष्ट्रपति मुर्मू ने बताया कि PM-KISAN एक केंद्रीय योजना है, जो केंद्र सरकार से 100 प्रतिशत वित्त पोषित है.

इस स्कीम के लिए राज्य सरकारें और केंद्रशासित प्रदेश प्रशासन उन किसान परिवारों की पहचान करते हैं, जो योजना के नियमानुसार सहायता के पात्र हैं.

यह भी पढ़े : गेहूं की उत्पादकता बढ़ाने के लिए इन खाद-उर्वरकों का करें छिड़काव

 

यह भी पढ़े : देशी गाय पालने वाले को मिलेगा 2 लाख रुपए का ईनाम

 

शेयर करें