हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

कृषि सिंचाई यंत्रों पर सब्सिडी के लिए आवेदन शुरू

रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया

 

किसानों को सरकार द्वारा ड्रिप, मिनी स्प्रिंकलर एवं पोर्टेबल स्प्रिंकलर जैसे सिंचाई यंत्रों पर मिलेगी सब्सिडी, इसके लिए यहां पर करें आवेदन..

 

 खरीफ फसलें लगभग तैयार होने वाली है। जिसके बाद किसान रबी फसलों की खेती में जुट जाता है।

ऐसे में साथ-साथ किसानों को रबी सीजन में सिंचाई की व्यवस्था करनी पड़ती है।

इसके लिए छोटे व सीमांत किसानों के पास उचित कृषि सिंचाई यंत्र खरीदने में समर्थ नहीं हो पाते हैं जिससे उनकी खेती पर असर पड़ता है।

सरकार ने किसानों की समस्या को ध्यान में रखते हुए उनको सब्सिडी पर कृषि सिंचाई यंत्र उपलब्ध करवा रही है इसके लिए 9 सितंबर यानी आज से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू हो गए हैं,

 

9 सितंबर से आवेदन शुरू

मध्य प्रदेश उद्यानिकी विभाग के तहत कृषि सिंचाई यंत्रों (ड्रिप, मिनी स्प्रिंकलर एवं पोर्टेबल स्प्रिंकलर) पर सब्सिडी के लाभ के लिए 9 सितंबर 2022 से आवेदन शुरू हो गए हैं।

विभाग ने आवेदन के लिए जिलेवार लक्ष्य जारी कर दिए गए है। इच्छुक किसान सब्सिडी का लाभ लेने के लिए योजना में आवेदन कर सकते हैं।

 

इन जिलों के किसानों को मिलेगा लाभ

मध्यप्रदेश उद्यानिकी विभाग की ओर से विशेष आदर्श विकासखंड हेतु राज्य के 6 जिलों क्रमश: सागर, दमोह, पन्ना, छतरपुर, टीकमगढ़, निवाड़ी के लिए जिलेवार लक्ष्य जारी कर दिए गए हैं।

इन लक्ष्यों के विरूद्ध राज्य के सभी वर्ग के किसान आवंटित लक्ष्यों के अनुसार आवेदन कर सकते हैं।

इन छह जिलों में जिन 9 विकास खंडों के लिए लक्ष्य जारी किए गए हैं उनमें सागर, पथरिया, छतरपुर, नौगांव, राजनगर, बल्देवगढ़, पलेरा, अजयगढ़ और निवाड़ी आदि शामिल हैं।

 

इन कृषि सिंचाई यंत्रों पर मिलेगी सब्सिडी

योजना के तहत नीचे दिए गए कृषि सिंचाई यंत्र पर सब्सिडी के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं –

  • मिनि स्प्रिंकलर सेट
  • ड्रिप सिस्टम
  • पोर्टेबल स्प्रिंकलर सेट आदि।

 

कितनी सब्सिडी मिलेगी

योजना के तहत जारी जिलेवार लक्ष्य प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत उद्यानिकी विभाग ने लक्ष्य जारी किया है।

इसके तहत अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति तथा सामान्य वर्ग के लिए अलग-अलग लक्ष्य जारी किया गया है।

सभी सिंचाई यंत्रों का कुल लक्ष्य 2327.34 है जिस पर 500.00 लाख रुपए का सब्सिडी दी जाएगी।

 

स्प्रिंकलर सेट पर इतनी सब्सिडी मिलेगी – प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के घटक पर ड्राप मोर क्रॉप (माइक्रोइरीगेशन) के तहत स्प्रिंकलर सेट पर लघु एवं सीमांत के सभी वर्गों के किसानों को इकाई लागत का 55 % का अनुदान दिया जाएगा।

  • तथा इसके साथ ही अन्य सभी वर्ग के किसानों को इकाई लागत का 45 % तक का अनुदान दिया जाएगा।

 

ड्रिप सिस्टम पर इतनी सब्सिडी मिलेगी – प्रदेश के लघु एवं सीमांत के सभी वर्गों के किसानों को कुल इकाई लागत का 55 % तक का अनुदान दिया जाएगा।

  • तथा साथ ही अन्य सभी वर्ग के किसानों को इकाई लागत का 45 % अनुदान दिया जाता है।

 

आवेदन की प्रक्रिया

उद्यानिकी विभाग द्वारा जारी प्रदेश के सभी वर्गों के किसान जिलेवार लक्ष्य के अनुसार 9 सिंतबर 2022 को सुबह 11 बजे से आवेदन कर सकते हैं।

दिए गए लक्ष्यों के संबंध में जिलों को आवंटित लक्ष्य से 10 % तक अधिक तक आवेदन ही किए जा सकेंगे।

 

सब्सिडी हेतु यहां करें आवेदन

किसान साथी उपरोक्त दिए गए सिंचाई यंत्रों हेतु ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

आवेदन उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग मध्य प्रदेश के द्वारा आमंत्रित किए गए हैं।

सभी आवेदन ऑनलाइन ही किए जा सकेंगे। किसान भाई यदि योजनाओं के विषय में अधिक जानकारी चाहते हैं तो उद्यानिकी एवं मध्य प्रदेश पर देख सकते हैं अथवा विकासखंड/जिला उद्यानिकी विभाग में संपर्क करें।

मध्य प्रदेश में किसानों को आवेदन करने के लिए आनलाइन पंजीयन उद्यानिकी विभाग मध्यप्रदेश फार्मर्स सब्सिडी ट्रैकिंग सिस्टम पर जाकर कृषक पंजीयन कर आवेदन कर सकते हैं।

 

आवेदन हेतु आवश्यक दस्तावेज

किसानों को सब्सिडी पर कृषि यंत्रों का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा।

इसके लिए उन्हें जिन दस्तावेजों की आवश्यकता होगी, वे इस प्रकार से हैं-

  • आवेदन करने वाले किसान का आधार कार्ड
  • किसान के बैंक खाते का विवरण इसके लिए बैंकपासबुक के प्रथम पृष्ठ की कॉपी
  • किसान का जाति प्रमाण पत्र (केवल अनुसूचित जाति एवं जनजाति के कृषकों हेतु)
  • बिजली कनेक्शन का प्रमाण जैसे बिल सिंचाई यंत्र आदि।
  • किसान का आधार से लिंक मोबाइल नंबर

आवेदन करने के लिए निचे दी गई लिंक पर क्लिक करें

https://mpfsts.mp.gov.in/

यह भी पढ़े : सब्सिडी पर ट्रैक्टर एवं पॉवर टिलर चलित कृषि यंत्र लेने के लिए आवेदन करें

 

यह भी पढ़े : सब्सिडी पर ड्रिप एवं स्प्रिंकलर सेट लेने के लिए आवेदन करें

 

शेयर करें