हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

सीएम शिवराज की मुख्यमंत्री युवा कौशल कमाई योजना

सीएम शिवराज ने ‘मुख्यमंत्री युवा कौशल कमाई योजना’ की घोषणा की है.

इसका लाभ उन युवाओं को मिलेगा जिनकी पढ़ाई पूरी हो गई है, लेकिन नौकरी नहीं लगी है.

उद्योगों के साथ-साथ सर्विस सेक्टर, समेत सभी सेक्टर में युवाओं को ट्रेनिंग दिलवाने का काम सरकार करेगी.

एक साल की ट्रेनिंग के दौरान सरकार युवाओं को 8 हजार रुपये महीना देगी.

 

मिलेगा 8 हजार रुपये महीना

भोपाल में आज आयोजित की गई ‘एमपी यूथ पंचायत 2023’ में मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने एक और नई योजना की घोषणा की है.

इस योजना के तहत प्रदेश के युवाओं को 8 हजार रुपये महीना मिलेगा. इसकी शुरुआत 1 जुलाई 2023 से होने जा रही है.

सीएम शिवराज ने इस योजना को ‘मुख्यमंत्री युवा कौशल कमाई योजना’ नाम दिया है.

इसके तहत प्रदेश के युवाओं को उद्योगों के साथ-साथ सर्विस सेक्टर, समेत सभी सेक्टर में युवाओं को ट्रेनिंग दिलवाने का काम सरकार करेगी. साथ ही युवाओं को रुपये भी मिलेगी.

मुख्यमंत्री युवा कौशल कमाई योजना का लाभ लाभ उन युवाओं को मिलेगा जिनकी पढ़ाई पूरी हो गई है, लेकिन नौकरी नहीं लगी है.

उद्योगों के साथ-साथ सर्विस सेक्टर, समेत सभी सेक्टर में युवाओं को ट्रेनिंग दिलवाने का काम सरकार करेगी.

 

ट्रेनिंग के दौरान मिलेगा 8 हजार रुपये महीना

योजना के तहत योजना के अंतर्गत जितने भी युवा ट्रेनिंग करेंगे उनको ट्रेनिंग के दौरान आठ हजार रुपये महिना दिया जाएगा.

  • युवाओं को इलेक्ट्रॉनिक,
  • इंजीनियरिंग,
  • मार्केटिंग,
  • होटल मैनेजमेंट,
  • आईटी,
  • बैंकिंग,
  • सीए,
  • सीएस,
  • मीडिया,
  • कला,
  • कानून सहित और भी क्षेत्रों में ट्रेनिंग दिलाई जाएगी.

 

1 जून 2023 से रजिस्ट्रेशन शुरू, एक बार 

1 जून 2023 से इस योजना के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू होगा.

रजिस्ट्रेशन कराने के बाद चयनित छात्रों का उनकी चुनी हुई फील्ड में एक साल के लिए ट्रेनिंग कराई जाएगी.

प्रशिक्षण कर रहे युवक-युवती की ट्रेनिंग के दौरान या तो वहीं नौकरी मिल जाए या कहीं और इसके लिए भी सरकार प्रयास करेगी.

 

सरकारी नौकरी के आवेदन के लिए केवल एक बार शुल्क

वहीं, सीए शिवराज ने इस दौरान एक और बड़ी घोषणा की है.

सीए ने कहा है कि प्रदेश में निकलने वाली सरकारी नौकरी के आवेदकों को अलग-अलग शुल्क नहीं देगा होगा.

यानि कि किसी भी सरकारी नौकरी के लिए बस एक बार आवेदन शुल्क देना होगा.

एक बार के बाद जब भी आवेदक आवेदन देना वह निशुल्क रहेगा.

 

मध्य प्रदेश भवन में रुक सकेंगे परिक्षार्थी

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने घोषणा की है कि यदि मध्य प्रदेश बच्चा दिल्ली में नौकरी के लिए इंटरव्यू देने जाएगा तो उनके लिए एमपी भवन में निःशुल्क रुकने की व्यवस्था रहेगी.

 

लाडली बहना योजना

चुनावी साल वाले मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने महत्वाकांक्षी लाड़ली बहना योजना को लॉन्च कर दिया है.

इस योजना के तहत 23 साल से लेकर 60 साल तक की उम्र की महिलाओं के बैंक खाते में हर महीने ₹1000 की राशि डाली जाएगी.

विवाहिता, विधवा, तलाकशुदा एवं परित्यक्ता महिलाएं इस योजना के लिए पात्र होंगीं.

इसके लिए परिवार की वार्षिक आय 2.5 लाख रुपये से ज्यादा नहीं होनी चाहिए.

कहा जा रहा है कि लाड़ली बहना योजना से महिलाओं का सशक्तिकरण होगा.

इसके जरिए महिलाओं को आर्थिक बल मिलेगा, वे समृद्ध और सशक्त बनेंगीं.

साथ ही महिलाएं बच्चों के स्वास्थ्य एवं पोषण में सुधार कर सकेंगी.

ग्राम पंचायत, वार्ड एवं आंगनवाड़ी केंद्रों में शिविर लगा कर योजना के आवेदन-पत्र भरे जाएंगे.

 

कौन कर सकता है आवेदन? 

लाडली बहना योजना के तहत 23 साल से 60 साल तक की उम्र की महिलाएं आवेदन कर सकती हैं.

लाडली बहना योजना के तहत लाभार्थी महिलाओं के खाते में मध्य प्रदेश सरकार हर महीने एक हजार रुपये की धनराशि भेजेगी.

मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार ऐसे समय में ये योजना शुरू करने जा रही है, जब सूबे में विधानसभा चुनाव होने हैं.

यह भी पढ़े : PM Awas Yojana : जारी हुई पीएम आवास योजना की राशि

 

यह भी पढ़े : खुशखबरी : मध्य प्रदेश में चना खरीदी लिमिट बढ़ी

 

शेयर करें