हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें
WhatsApp Group Join Now

डेयरी प्रोडेक्ट, गेहूं, दाल, चावल सभी का निर्यात हुआ बंपर

किसान-कारोबारियों की खूब हुई कमाई

 

भारत के डेयरी प्रोडेक्ट, गेहूं, दाल, चावल समेत अनाजों का एक्सपोर्ट लगातार बढ़ता जा रहा है.

इस साल गेहूं, दाल, चावल बंपर एक्सपोर्ट हुए हैं. इससे किसान, कारोबारियों की खूब कमाई हुई है.

 

देश के किसान लगातार तरक्की कर रहे हैं. केंद्र सरकार भी किसानों की आय बढ़ाने, उन्हें उन्नत करने के लिए हर संभव मदद कर रही है.

देश के प्रोडक्ट को विदेशों में खूब पसंद किया जाता है. यहां के फल, सब्जी को विदेशी बड़ा चाव से खाना पसंद करते हैं.

वाणिज्यिक मंत्रालय के ताजा आंकड़ें सामने आए हैं.

उसके अनुसार, देश के डेेयरी प्रोडेक्ट, गेहूं, दाल, चावल समेत कई अनाजों का निर्यात बढ़ गया है.

 

निर्यात का आंकड़ा जारी

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, वाणिज्यिक खुफिया और सांख्यिकी महानिदेशालय ने अप्रैल से नवंबर तक कृषि और प्रोसेस्ड फूड प्रोडक्ट के निर्यात का अस्थायी डाटा जारी किया है.

ये सभी तरह के प्रोडेक्ट का डाटा है.

आंकड़ों में सामने आया है कि इन प्रोडक्ट का एक साल पहले निर्यातत 15.07 बिलियन डॉलर था, जोकि अब बढ़कर 17.43 बिलियन डॉलर तक पहुंच गया है.

आंकड़ों की ग्रोथ देखकर किसान, सरकार, कारोबारी सभी खुश हैं. किसान और कारोबारियों की निर्यात बढ़ने से कमाई बढ़ी है.

2022-23 के लिए वाणिज्य सरकार का निर्यात लक्ष्य 23.56 अरब डॉलर निर्धारित किया गया था.

 

इस तरह हुई ग्रोथ

वाणिज्यिक खुफिया और सांख्यिकी महानिदेशालय की रिपोर्ट में सामने आया है कि प्रोसेस्ड फल और सब्जियों के निर्यात में अप्रैल से नवंबर 2022 में 2.60 प्रतिशत की ग्रोथ दर्ज की गई.

ताजे की फलों का निर्यात 4 प्रतिशत बढ़ा, जबकि अनाज जैसे फूड प्रोडेक्ट 28.29 प्रतिशत अधिक विदेश भेजे गए.

 

गेहूं, दालों का निर्यात भी बढ़ा

दालों के एक्सपोर्ट करने की स्थिति भी ठीक है. नवंबर 2022-23 के बीच दालों का निर्यात 90.49 प्रतिशत बढ़ा है.

यह अब बढ़कर 392 मिलियन डॉलर तक पहुंच गया है. गेहूं का निर्यात 29.29 प्रतिशत बढ़ा है.

यह 1508 मिलियन डॉलर तक दर्ज किया गया है.

 

डेयरी प्रोडेक्ट, चावल का एक्सपोर्ट भी बढ़ा

डेयरी प्रोडेक्ट, चावल के निर्यात में भी बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है. डेयरी प्रोडक्ट में बढ़त 33.77 प्रतिशत दर्ज की गई है.

यह बढ़कर 421 मिलियन डॉलर हो गया है. जबकि बासमती चावल का निर्यात 39.26 प्रतिशत बढ़ा है.

यह 2873 मिलियन डॉलर हुआ है, जबकि गैर बासमती चावल का निर्यात 5 प्रतिशत बढ़कर 4109 मिलियन डॉलर हुआ है.

यह भी पढ़े : कृषि विश्वविद्यालय जबलपुर ने गर्मी में पैदा होने वाली चना किस्म बनाई

 

यह भी पढ़े : 13 वीं किस्त को लेकर बड़ा अपडेट, जल्द आ सकते है पैसे

 

शेयर करें