हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें
WhatsApp Group Join Now

कृषि समाचार – 30 मई

समर्थन मूल्य पर तिवड़ायुक्त चना भी खरीदा जायेगा – मंत्री श्री पटेल

किसान कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री श्री कमल पटेल ने बताया है कि प्रदेश में समर्थन मूल्य पर एक से दो प्रतिशत तक तिवड़ायुक्त चना भी खरीदा जायेगा। उन्होंने बताया कि तिवड़ा के संबंध में स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी नोटिफिकेशन कैंसिल किया जायेगा।

नोटिफिकेशन होगा कैंसिल

मंत्री श्री पटेल ने आज दूरभाष पर केन्द्रीय कृषि मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर से तिवड़ायुक्त चने के उपार्जन के संबंध में चर्चा की। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्वास्थ्य के लिये तिवड़े के हानिप्रद होने संबंधी नोटिफिकेशन को कैंसिल किया जायेगा। मंत्री श्री पटेल ने बताया कि लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, अपर मुख्य सचिव, स्वास्थ्य श्री मोहम्मद सुलेमान और आयुक्त, खाद्य सुरक्षा प्रशासन श्री फैज अहमद किदवई से दूरभाष पर नोटिफिकेशन कैंसिलेशन के लिये चर्चा हो गई है।

सब्सिडी के लिये भारत सरकार को प्रस्ताव भेजेंगे

मंत्री श्री पटेल ने मल्टीक्रॉप थ्रेसर में किसानों को मिलने वाली सब्सिडी को बढ़ाने के लिये भारत सरकार को प्रस्ताव भेजे जाने के लिये आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश संचालक कृषि को दिये।

वर्तमान में मल्टीक्रॉप थ्रेसर के लिये अनुसूचित-जाति, जनजाति महिलाएँ और लघु एवं सीमांत किसानों को थ्रेसर की लागत की 50 प्रतिशत अथवा एक लाख रुपये की सब्सिडी दी जाती है।

 

डीजल पम्प सेट की जगह विद्युत पम्प लगाएं

मंत्री श्री पटेल ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि किसानों को डीजल पम्प सेट के स्थान पर विद्युत पम्प लगवाने के लिये प्रोत्साहित करें।

उन्होंने कहा कि सरकार विद्युत पम्प लगाने और सिंचाई के लिये सुविधाएँ उपलब्ध करवा रही है। डीजल पम्प से किसानों को डीजल की खपत में व्यय करना पड़ता है। बेहतर रहेगा कि सभी किसान विद्युत पम्प लगवाते हुए योजनाओं का लाभ लें।

 

किसान मित्रों को प्रशिक्षित किया जायेगा

गाँवों में किसानों की सहायता के लिये कृषक मित्रों की सहायता ली जायेगी। मंत्री श्री पटेल ने बताया कि कृषक मित्रों को कृषि वैज्ञानिकों द्वारा प्रशिक्षित कराया जायेगा। कृषक मित्र किसानों को समस्त योजनाओं की जानकारी, बेहतर उत्पादन के लिये खाद, बीज इत्यादि जानकारी देने के साथ मिट्टी परीक्षण में भी सहायता प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे।

विकासखण्ड स्तर पर किसानों की सहायता के लिये उच्च प्रशिक्षित विकासखण्ड समन्वयकों की सहायता ली जायेगी।

 

अप्रमाणित बीज वितरण की होगी जाँच

मंत्री श्री पटेल ने किसानों को खरीफ 2019-20 में धान और मक्का के अप्रमाणित संकर बीजों के वितरण की जाँच के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि उत्तम गुणवत्तापूर्ण बीज उपलब्ध कराना विभागीय कार्य है।

इसके बावजूद किसानों को अप्रमाणित बीज उपलब्ध कराया जाना किसानों के साथ धोखाधड़ी है। जाँच में दोषी पाये जाने पर संबंधित वरिष्ठ अधिकारियों के विरुद्ध कार्यवाही की जायेगी।

 

चना, मसूर व सरसों की उपार्जन तिथि बढ़ाई

मध्यप्रदेश सरकार ने किसान हित को प्राथमिकता देते हुए चना, मसूर और सरसों की उपार्जन तिथि बढ़ाने का फैसला किया है। अब किसान भाई 10 जून तक उपार्जन केंद्रों पर ये फसलें बेच सकेंगे।

 

शेयर करे