हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

सरकार ने इस भाव पर प्याज बेचने का लिया निर्णय

देश में बढ़ती महंगाई से आम लोगों को राहत देने के लिए केंद्र सरकार ने बड़ा फैसला लिया है।

केंद्र सरकार अब टमाटर के बाद आम लोगों को प्याज की महंगाई से राहत दिलाने के लिए सस्ती कीमतों पर प्याज बेचने जा रही है।

इसके साथ ही सरकार ने प्याज़ के बफ़र स्टॉक को भी बढ़ाने का निर्णय लिया है।

 देश में प्याज़ की कीमतें नियंत्रित करने के लिए ही सरकार ने 19 अगस्त को प्याज़ के निर्यात पर 40 प्रतिशत की एक्सपोर्ट ड्यूटी लगा दी है।

 

अब लोगों को सस्ते में मिलेंगे प्याज

टमाटर के बाद सरकार अब रियायती भाव पर प्याज की बिक्री करेगी।

सोमवार यानी 21 अगस्त 2023 से सरकार 25 रुपये किलो के भाव पर प्याज बेचेगी।

प्याज की यह बिक्री NCCF के जरिए खुदरा दुकानों और मोबाइल वैन के माध्यम से की जाएगी।

वहीं आने वाले दिनों में अन्य संस्‍थाओं और ईकॉमर्स मंचों को शामिल करके प्याज की खुदरा बिक्री को उपयुक्त रूप से बढ़ाया जाएगा।

 

लाख मीट्रिक टन LMT किया जाएगा प्याज का बफ़र स्टॉक

सरकार ने 3 लाख मीट्रिक टन के शुरुआती खरीद लक्ष्य को पाने के बाद इस वर्ष प्याज बफर की मात्रा को बढ़ाकर 5 लाख मीट्रिक टन कर दिया है।

इस संबंध मेंउपभोक्ता मामलों के विभाग ने भारतीय राष्ट्रीय उपभोक्ता सहकारी संघ (NCCF) और भारतीय राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन संघ (NAFED) को प्रमुख उपभोग केंद्रों में खरीदे गए स्टॉक के कैलिब्रेटेड निपटान के साथ अतिरिक्त खरीद लक्ष्य प्राप्त करने के लिए 1 लाख टन की खरीद करने का निर्देश दिया है।

 

बाजार में अब तक भेजा गया 1400 मीट्रिक टन प्याज

राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के प्रमुख बाजारों को लक्षित करते हुए बफर से प्याज का निपटान शुरू हो गया है।

जहां खुदरा कीमतें ऑल इंडिया एवरेज से ऊपर हैं या पिछले महीने की तुलना में काफी अधिक हैं इन बाजारों में सरकार ने बफ़र स्टॉक से प्याज भेजना शुरू कर दिया है।

अभी तक बफर स्टॉक से लगभग 1,400 मीट्रिक टन प्याज लक्षित बाजारों में भेज दिया गया हैऔर उपलब्धता बढ़ाने के लिए लगातार जारी किया जा रहा है।

सब्सिडी पर कृषि यंत्र लेने के लिये आवेदन करें किसान