हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें
WhatsApp Group Join Now

6 दिन बाद भी नहीं मिले 14वीं किस्त के पैसे

8.5 करोड़ से किसानों के खाते में पीएम किसान योजना की 14वीं किस्त गुरुवार यानी 27 जुलाई को भेज दी गई थी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डीबीटी ट्रांसफर के माध्यम से किसानों के खाते में ये राशि भेजी थी.

हालांकि, कई किसान ऐसे हैं, जिनको किस्त जारी होने के 6 दिनों बाद भी इस योजना का लाभ नहीं मिल पाया है.

 

तो फौरन करें ये काम

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों को सालाना 6 हजार रुपये की आर्थिक मदद दी जाती है.

यह राशि हर 4 महीने के अंतराल में 3 किस्तों में 2-2 हजार रुपये करके किसानों के खाते में डीबीटी माध्यम से ट्रांसफर किए जाते हैं.

8.5 करोड़ से किसानों के खाते में पीएम किसान योजना की 14वीं किस्त गुरुवार यानी 27 जुलाई को भेज दी गई थी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डीबीटी ट्रांसफर के माध्यम से किसानों के खाते में ये राशि भेजी थी.

हालांकि, कई किसान ऐसे हैं, जिनको किस्त जारी होने के 6 दिनों बाद भी इस योजना का लाभ नहीं मिल पाया है.

अपनी अटकी हुई किस्त के लिए इन किसानों को क्या करना होगा हम आपको यहां बताने जा रहे हैं.

 

किसानों के पास ये है ऑप्शन

किसान को सबसे पहले अपना स्टेटस चेक करने के लिए आधिकारिक किसान पोर्टल pmkisan.gov.in पर जाना होगा.

यहां पर उन्हें ‘Know Your Status’ पर क्लिक करना होगा.

इसके लिए रजिस्ट्रेशन नंबर और स्क्रीन पर दिया हुआ कैप्चा कोड दर्ज करना है इसके बाद गेट डाटा पर क्लिक करें और फिर आपके सामने आपकी पूरी जानकारी आ जाएगी.

यहां आपको आपके दस्तावेज के बारे में सारी जानकारियां मिल जाएंगी. इसमें कोई गलती है तो उसे ठीक करवा लें.

अटकी हुई राशि किसानों के खाते में अगली किस्त के साथ आ सकती है.

 

इन गलतियों की वजह से अटक सकती है किस्त

  • ई-केवाईसी न करवाने के कारण
  • लैंड सीडिंग न होने के कारण
  • बैंक खाते की जानकारी गलत होने के कारण

 

यहां संपर्क कर सकते हैं किसान

किस्त न आने पर या किसी तरह की मदद के लिए आप आधिकारिक ईमेल आईडी pmkisan-ict@gov.in पर संपर्क कर सकते हैं.

पीएम किसान योजना के हेल्पलाइन नंबर- 155261 या 1800115526 (Toll Free) या फिर 011-23381092 पर संपर्क कर सकते हैं.

ऐसे में अगर आप इस योजना के योग्य हैं तो अगली किस्त में 14वीं किस्त की राशि एड करके भेजी जा सकती है.

सब्सिडी पर कृषि यंत्र लेने के लिये आवेदन करें किसान