हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

किसानों को अनुदान पर दिए जाएँगे 49 लाख सोलर पम्प

देश में किसानों को सिंचाई की सुविधा उपलब्ध कराने एवं फसल उत्पादन की लागत को कम करने के उद्देश्य से देश भर में पीएम कुसुम योजना चलाई जा रही है।

योजना के तहत किसानों को सब्सिडी पर सोलर पम्प उपलब्ध कराये जाते हैं।

नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय द्वारा वर्ष 2023 के लिए साल खत्म होने पर वर्षांत समीक्षा जारी की गई।

वर्षांत समीक्षा में बताया गया है कि सरकार ने किसानों की सुविधा के लिए वर्ष 2023 में पीएम कुसुम योजना में कई बदलाब किए हैं।

 

सोलर पम्प अनुदान

सरकार ने पीएम कुसुम योजना के घटक ‘बी’ और घटक ‘सी’ के तहत देश भर में लगाये जाने वाले सोलर पम्पों की संख्या में संशोधन कर दिया है।

अब देश भर में योजना के तहत कुल 49 लाख सोलर पम्पों की स्थापना की जाएगी।

साथ ही 2023 में योजना को सरल बनाने के लिए भी कई कदम उठायें हैं ताकि अधिक से अधिक किसान योजना का लाभ ले सकें।

 

वर्ष 2023 में पीएम कुसुम योजना के तहत किए गए कार्य

नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय द्वारा द्वारा संचालित पीएम कुसुम योजना में स्थापित किए जाने वाले 49 लाख पंपों के संशोधित लक्ष्य के साथ पीएम कुसुम योजना के विस्तार को मंजूरी दे दी है।

साथ ही घटक ‘सी’ में भूमि एकत्रीकरण प्रक्रिया को सरल बनाने के लिए योजना के दिशानिर्देशों को भी संशोधित किया गया है।

वहीं किसानों को कंपनी के चयन में किसी प्रकार की असुविधा न हो इसके लिए सरकार ने जुलाई और सितंबर, 2023 के दौरान घटक ‘बी’ के तहत विक्रेताओं और बेंचमार्क लागत की सूचीबद्ध सूची जारी की है।

साथ ही घटक ‘सी’ के तहत डीसीआर सामग्री की छूट दिनांक 11/09/2023 के कार्यालय ज्ञापन के माध्यम से 31 मार्च 2024 तक बढ़ा दी गई है।

इसके साथ ही योजना में अनिवार्य राज्य हिस्सेदारी प्रावधान को हटाने के लिए संशोधन किया गया है।

 

पीएम कुसुम योजना के तहत अभी तक स्थापित सोलर पंप

पीएम कुसुम पोर्टल पर प्राप्त जानकारी के अनुसार घटक ‘ब’ के तहत 30 नवम्बर 2023 तक कुल 2,78,114 सौर पंपों की स्थापना की जा चुकी है वहीं 9,71,471 सोलर पम्प लगाने के लिए किसानों को स्वीकृति दी जा चुकी है।

इसमें सबसे अधिक सोलर पंप की स्थापना महाराष्ट्र 74575, हरियाणा 67435 एवं राजस्थान 59732 में की गई है।

वहीं बात की जाये योजना के घटक ‘सी’ की तो इसके तहत 30 नवम्बर 2023 तक कुल 1894 किसानों के खेतों में सोलर पंप की स्थापना की गई है वहीं 2700 सोलर पंप की स्थापना फीडर लेवल पर की गई है।

वहीं 134286 सोलर पंप के लिये सरकार द्वारा स्वीकृति जारी की जा चुकी है।

 

सोलर पंप पर कितनी सब्सिडी दी जाती है?

केंद्र प्रायोजित पीएम कुसुम योजना के घटक बी एवं घटक सी के तहत किसानों को 7.5 HP तक के सोलर पंप पर 60 प्रतिशत तक की सब्सिडी दी जाती है।

इसमें 30 प्रतिशत की सब्सिडी केंद्र सरकार की ओर से तो कम से कम 30 प्रतिशत की सब्सिडी राज्य सरकार की और से दी जाती है।

इसमें राज्य सरकार चाहे तो उनकी और से सब्सिडी की मात्रा बढ़ा सकती है।

किसानों को योजना के तहत मात्र 40 प्रतिशत की राशि ही देनी होती है जिसमें भी वह 30 प्रतिशत का की राशि बैंक ऋण के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं।

किसान पीएम कुसुम योजना से जुड़ी सभी जानकारी नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय के पोर्टल  https://pmkusum.mnre.gov.in/landing.html पर देख सकते हैं।

देखे बैटरी से संचालित लहसुन कटिंग मशीन