हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें
WhatsApp Group Join Now

चारा परिवहन में सावधानी की दरकार

 

इन दिनों प्रायः सभी जगह किसान खरीफ फसल की कटाई के बाद रबी फसल की तैयारियों में लगे हैं .

 

खेतों से मक्का और सोयाबीन फसल के चारे का परिवहन किया जा रहा है. जिसके लिए प्रायः ट्रैक्टर -ट्रॉली का उपयोग किया जाता है, क्योंकि यह अधिकांश किसानों के पास है या आसानी से उपलब्ध हो जाती है.लेकिन चूँकि ट्रॉली की ऊंचाई कम रहती है , इसलिए चारा भरते समय सावधानी की दरकार है , अन्यथा आगजनी या अन्य कोई दुर्घटना होने का अंदेशा रहता है.

 

प्रस्तुत वीडियो किसी ग्रामीण क्षेत्र का है , जहां ट्रॉली में मक्का का चारा क्षमता से ज्यादा भरा हुआ था , जो बिजली के तारों के सम्पर्क में आ गया और मक्के के चारे में आग लग गई .ट्रैक्टर चालक ने बचाव के तौर पर ट्रैक्टर को घटनास्थल से आगे बढ़ाया , तो जला हुआ चारा नीचे गिर गया और दो पहिया वाहन सहित मोहल्ला आग की चपेट में आ गया.

 

यह भी पढ़े : बाढ़ एवं कीट-रोगों से हुए नुकसान का किसानों को दिया जायेगा मुआवजा

 

किसान भाई इस घटना से सबक सीखें और ट्रॉली में चारा क्षमता अनुसार ही भरें और जहां बिजली के तार नीचे हैं , वहां से वाहन सावधानीपूर्वक निकालें . इसीसे आगजनी की घटनाओं को रोका जा सकता है.

शेयर करे