हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें
WhatsApp Group Join Now

किसान अब एक दिन में बेच सकेंगे इतने क्विंटल मूंग और उड़द

मूंग और उड़द की खरीद सीमा में की गई वृद्धि

 

देश में सरकार द्वारा दलहन फसलों का उत्पादन बढ़ाने के लिए मूँग एवं उड़द जैसी दलहनी फसलों की खेती को बढ़ावा देने के लिए किसानों को प्रोत्साहित किया जा रहा है।

इसके लिए सरकार द्वारा अधिक से अधिक किसानों से मूँग एवं उड़द फसलों की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदी की जा रही है, ताकि किसानों को अपनी उपज का उचित मूल्य मिल सके।

इस कड़ी में केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय ने मध्य प्रदेश में किसानों के लिए जायद (गर्मी) सीजन 2021-22 के दौरान मूल्य समर्थन योजना (पीएसएस) के अंतर्गत मूंग और उड़द की खरीद की सीमा में वृद्धि कर दी है।

 

मध्य प्रदेश के किसान कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री श्री कमल पटेल ने केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर से मुलाकात कर मध्य प्रदेश के किसानों की समस्याओं पर चर्चा की थी।

जिसके बाद यह फैसला लिया गया है। केंद्रीय कृषि मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर के निर्देश पर मध्य प्रदेश के किसानों के लिए छूट की सीमा को मंजूरी दी गई है।

 

किसान अब एक दिन में बेच सकेंगे 40 क्विंटल मूँग एवं उड़द

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय ने मध्य प्रदेश में किसानों के लिए जायद सीजन 2021-22 के दौरान मूल्य समर्थन योजना के तहत मूंग और उड़द की खरीद की 25 क्विंटल की मौजूदा सीमा को बढ़ाकर 40 क्विंटल प्रति किसान प्रतिदिन कर दी गई है।

ऐसे किसान जिनकी 25 क्विंटल की तुलाई हो चुकी है, परंतु जिनके पास अभी पात्रता अनुसार उपार्जन हेतु मात्रा शेष है उनका कृषक के आवेदन पर निर्धारित जानकारी प्राप्त करने पर द्वितीय एसएमएस किया जाएगा।

साथ में उसके शेष स्टाक का भौतिक सत्यापन ज़िला द्वारा किया जायेगा। एसएमएस की वैद्यता सिर्फ 10 दिन के लिए ही होगी।

 

श्री कमल पटेल ने कहा कि…

इस अवसर पर राज्य के कृषि मंत्री श्री कमल पटेल ने कहा कि पीएसएस के अंतर्गत मूंग और उड़द की उपज बेचते समय यदि किसानों के पास ग्रीष्मकालीन मूंग की अधिक मात्रा उपलब्ध होती है तो पीएसएस पंजीकरण दिशा-निर्देशों के अनुसार प्रति किसान 25 क्विंटल प्रतिदिन की खरीद सीमा होने के कारण उन्हें समस्या का सामना करना पड़ता है।

मूंग एवं उड़द की एक दिन की उपार्जन सीमा को बढ़ाने से बहुत राहत मिलेगी।

इससे किसानों का आवागमन एवं ईंधन में होने वाला व्यय और समय दोनों ही बचेंगे।

 

सरकार द्वारा ग्रीष्मकालीन मूँग एवं उड़द की खरीदी न्यूनतम समर्थन मूल्य पर की जा रही है।

विपणन वर्ष 2022-23 के लिए मूंग का न्यूनतम समर्थन मूल्य 7 हजार 275 रूपए प्रति क्विंटल और उड़द का न्यूनतम समर्थन मूल्य 6 हजार 300 रूपए प्रति क्विंटल निर्धारित है।

यह भी पढ़े : सिंघाड़े की खेती करने पर मिलता हैं इतना अनुदान

 

यह भी पढ़े : सरसों, गेहूं, आलू के लिए मिलेगी इतनी यूरिया और डीएपी

 

शेयर करें