हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें
WhatsApp Group Join Now

25 जिलों में झमाझम बारिश शुरू, ऑरेंज और येलो अलर्ट जारी

बारिश की संभावना

 

मध्यप्रदेश के कई जिलों में बुधवार शाम से बारिश का दौर शुरू हो गया है.

रुक-रुककर हो रही बारिश को आज से रफ्तार मिल सकती है.

मौसम विभाग ने इसे के मद्देनजर कई जिलों में ऑरेंज और यलो अलर्ट जारी किया है.

 

मध्य प्रदेश में मानसून की एंट्री हो गई है. बुधवार शाम से ही करीब 25 जिलों रुक-रुककर बारिश हो रही है.

अनुमान के हिसाब से गुरुवार शाम तक बारिश की रफ्तार बढ़ सकती है.

मौसम विभाग 12 जिलों में मूसलाधार बारिश और 5 जिलों में भारी वर्षा की चेतावनी जारी की है.

इसके अलावा 4 संभागों के सभी जिलों और उपरोक्त सभी के अलावा सात अन्य जिलों में वज्रपात यानी बादलों से बिजली गिरने का खतरा बताया गया है.

 

24 घंटे में 2 इंच बारिश

बीते 24 घंटे में विदिशा, छिंदवाड़ा समेत प्रदेश के 25 से ज्यादा जिलों में दो इंच तक बारिश हो चुकी है.

राजधानी भोपाल में भी बुधवार दिनभर धूप छांव  के दौर चलता रहा. हालांकि रात तक बारिश नहीं हुई.

इस कारण उमस से थोड़ी परेशानी बढ़ी. शाम को कम ही लोग बाजारों के लिए बाहर निकले.

 

30 जून और 1 जुलाई को बारिश की संभावना

राजस्थान से मध्यप्रदेश होते हुए ओडिशा तक बन रहे सिस्टम के कारण राज्य में मानसून एक्टिव हो चुका है.

30 जून और 1 जुलाई को मध्यप्रदेश के केंद्रीय और उत्तरी हिस्से यानी भोपाल, उज्जैन, ग्वालियर, सागर और रीवा संभाग में भारी बारिश हो सकती है.

 

इन जिलों में येलो अलर्ट

भोपाल, नर्मदापुरम ग्वालियर और चंबल संभाग समेत मालवा निमाड़ के कुछ ज़िलों के साथ-साथ विदिशा, रायसेन, शाजापुर, धार, इंदौर, बड़वानी, सीहोर, सीधी समेत आस-पास के कई जिलों में बारिश का येलो अलर्ट जारी किया है.

इसके अलावा श्योपुर, मुरैना, छतरपुर में तेज बारिश के साथ बिजली गिरने की आशंका जताई गई है.

 

इन जिलों में ऑरेंज अलर्ट

रीवा, सतना, सीधी, सिंगरौली, उमरिया, अनूपपुर, शहडोल, डिंडोरी, छतरपुर, निवाड़ी, छिंदवाड़ा और बालाघाट जिलों में मूसलाधार बारिश की संभावना है.

मौसम विभाग ने इन जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. यह सीजन का पहला ऑरेंज अलर्ट है.

यानी कि इन जिलों में लोग अपने घरों में रहे और किसी भी प्रकार की रिस्क ना लें.

बरसाती नदी नालों से दूर रहें चाहे उन का जलस्तर कम क्यों ना हो.

यह भी पढ़े : अधिक पैदावार के लिए बुआई से पहले ज़रूर करें बीज अंकुरण परीक्षण

 

यह भी पढ़े : सोयाबीन की बोवनी हेतु किसानो के लिए महत्वपूर्ण सलाह

 

शेयर करे