हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें
WhatsApp Group Join Now

24 घंटों में ही मानसून सक्रिय हो चुका है, यलो अलर्ट जारी

 

भोपाल में एक घंटे में 1 इंच बारिश

 

गुना में ओले गिरे

 

मध्यप्रदेश में गुरुवार को मानसून ने बैतूल की तरफ से और तेजी से दस्तक दे दी। राजधानी भोपाल में मानसून सक्रिय हो गया है।

शुक्रवार दोपहर तेज हवाओं और गरज-चमक के साथ भोपाल में मूसलधार बारिश हुई। एक घंटे में करीब एक इंच बारिश हुई। कई जगह पानी भर गया।

इसके बाद करीब रात 9:45 मिनट पर फिर से बारिश शुरू हो गई।

 

इसके अलावा गुना के बमौरी क्षेत्र में भी बारिश के साथ ओले गिरे हैं।

ग्वालियर, इंदौर, होशंगाबाद, खंडवा में मौसम साफ है। यहां सुबह से तेज धूप है। उमस से लोग बेहाल हैं। वहीं, सागर, छिंदवाड़ा में बादल छाए हुए हैं।

भोपाल-नागपुर हाइवे पर धार नदी की पुलिया पर बाढ़ आने से रास्ता बंद हो गया। एम्बुलेंस भी फंस गई। पानी उतरने पर वाहन निकलना शुरू हुए।

 

यह भी पढ़े : किसान 15 जून से 7196 रुपये प्रति क्विंटल के समर्थन मूल्य पर बेच सकेगें मूंग

 

भोपाल में दोपहर होते ही बादलों ने डेरा डाला

भोपाल में सुबह से मौसम साफ था। दोपहर होते-होते बादलों ने पूरे शहर को घेर लिया। दोपहर करीब 3:30 बजे ही शाम जैसा मौसम हो गया। इसके बाद तेज हवाएं चलने लगी।

करीब 15 मिनट बाद तेज बारिश शुरू हो गई। शहर के एमपी नगर, आनंद नगर, आयोध्या नगर, पिपलानी, रायसेन रोड, पुराना भोपाल, होशंगाबाद रोड आदि क्षेत्रों में तेज बारिश हुई।

यहां एक घंटे में करीब एक इंच बारिश दर्ज की गई। रात को फिर से झमाझम बारिश का दौर शुरू हो गया।

 

विंध्य क्षेत्र में भी मानसून ने दस्तक दे दी है। यहां गुरुवार को रीवा और सतना जिले में शहर से लेकर गांव तक रिमझिम बारिश हुई है।

रात करीब 8.15 बजे से चालू हुआ बारिश का सिलसिला देर रात 12 बजे तक रिमझिम बारिश के रूप में चलता रहा है।

हालांकि शुक्रवार सुबह से लेकर शाम तक मौसम साफ रहा।

 

24 घंटों में ही मानसून जबलपुर, होशंगाबाद, शहडोल और इंदौर के अधिकांश संभागों में फैल गया, जबकि भोपाल और सागर के कुछ हिस्सों में यह सक्रिय हो चुका है।

 

सात दिन पहले मानसून पहुंचा एमपी

मौसम विभाग की मानें तो समय से सात दिन पहले ही इस बार मध्यप्रदेश में सक्रिय हो गया।

दक्षिण पश्चिमी मानसून उत्तरी सीमा व सूरत, नंदूरबार, रायसेन, दमोह, उपरिया, पंड्रा रोड, बोलांगीर, पुरी से होकर गुजर रही है।

यही कारण है कि एक जून से लेकर शुक्रवार सुबह तक पूर्वी मध्यप्रदेश में करीब दो इंच और पश्चिम मध्यप्रदेश में करीब सवा इंच बारिश हो चुकी थी।

 

यह भी पढ़े : 2021-22 में धान, मक्का सहित अन्य खरीफ फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य

 

यहां गरज चमक के साथ बारिश

मौसम विभाग ने होशंगाबाद, जबलपुर और सागर संभाग के अधिकांश जिलों रीवा, शहडोल संभागों के अनेक स्थानों और इंदौर, उज्जैन, ग्वालियर और चंबल संभाग के कुछ जिलों में गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ने की संभावना जताई है।

 

यहां यलो अलर्ट जारी

प्रदेश के अनूपपुर, नरसिंहपुर, छिंदवाड़ा, सिवनी, मंडला, बालाघाट, सागर, सीहोर, होशंगाबाद, बैतूल और देवास जिलों में कहीं-कहीं भारी बारिश के साथ बिजली चमकने और गिरने का यलो अलर्ट जारी किया गया है।

जबकि रीवा, इंदौर, ग्वालियर, एवं चंबल संभागों के जिलों में, शहडोल, उमरिया, डिंडोरी, कटनी, जबलपुर, पन्ना, दमोह, टीकमगढ़, छतरपुर, विदिशा, रायसेन, भोपाल, राजगढ़, हरदा, रतलाम, उज्जैन, शाजापुर, अगर नीचम और मंदसौर जिलों में कहीं-कहीं गरज के साथ बिजली चमकने और 40 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से तेज हवाएं चल सकती हैं।

 

यह भी पढ़े : मप्र में तय समय से छह दिन पहले आया मानसून

 

source

 

शेयर करे