हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

क्या है यूरिया गोल्ड, कैसे होगा किसानों को फायदा?

यूरिया खाद खेती में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। किसी भी फसल की उपज में वृद्धि करने के लिए अधिकतर किसान भाई यूरिया का उपयोग करते है।

यूरिया की मदद से खेतों में नाइट्रोजन की पर्याप्त आपूर्ति हो पाती है। यूरिया के इस्तेमाल से फसल की पैदावार बढ़ाई जा सकती है।

किसानों के लिए अब हाल ही में भारत सरकार ने यूरिया गोल्ड – Urea gold fertilizer लांच कर दिया है।

जिसके बारे में आज हम आपको यहां बताने वाले है।

जानें क्या है यूरिया गोल्ड, इसके क्या क्या लाभ है एवं यूरिया गोल्ड की कीमत कितनी है…

 

किसानों को मिलेंगे कई लाभ

दरअसल, सामान्य यूरिया की मदद से अब तक किसान अपने खेत में नाइट्रोजन की कमी को दूर करते आए हैं और फसल की पैदावार बढ़ाते आए हैं लेकिन हाल ही में एक नई यूरिया की किस्म किसानों के लिए आई है। 

Urea gold fertilizer यूरिया के अलावा कई अन्य पोषक तत्व खेत को प्रदान करती है जो उपज बढ़ाने में सहायक है।

यूरिया की इस किस्म से खेतों में नाइट्रोजन के अलावा सल्फर की कमी को भी दूर किया जा सकेगा।

यूरिया की इस नई किस्म का नाम यूरिया गोल्ड है, जिसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 27 जुलाई को सीकर में आयोजित जनसभा में लांच किया है।

वहीं कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने यूरिया की इस विशेष किस्म की जानकारी ट्वीट करके दी है।

 

क्या है यूरिया गोल्ड?

Urea gold fertilizer को सल्फर कोटेड यूरिया भी कहा जाता है।

यह यूरिया एक नई किस्म है, जो सल्फर कोटेड होती है। इसके इस्तेमाल से मिट्टी से सल्फर की कमी को भी दूर किया जा सकेगा।

इसका निर्माण नेशनल केमिकल एंड फर्टिलाइजर लिमिटेड द्वारा किया जाता है।

मिट्टी में उर्वरता की कमी को दूर करने और किसानों का मुनाफा बढ़ाने के उद्देश्य से हाल ही में यूरिया गोल्ड को लांच किया गया।

यूरिया गोल्ड को सल्फर यूरिया भी कहा जाता है।

गौरतलब है कि सरकार किसानों की आय में बढ़ोतरी करने के लिए तरह-तरह के प्रयास करती है ताकि किसानों की आय 2025 तक दोगुनी की जा सके।

 

यूरिया गोल्ड fertilizer के लाभ क्या- क्या है?

किसान, यूरिया गोल्ड fertilizer से अपने फसल की पैदावार को सवा से डेढ़ गुना तक बढ़ा सकते हैं।

यूरिया गोल्ड यानि सल्फर यूरिया उन किसानों के लिए वरदान है जिनके खेतों में सल्फर और खनिज लवण की कमी है।

यूरिया गोल्ड इन कमियों को दूर कर मिट्टी को उपजाऊ बनाती है।

यह पौधों में नाइट्रोजन उपयोग की क्षमता को बढ़ाता है। इसके इस्तेमाल से उर्वरक की खपत भी कम होती है, साथ ही फसल की गुणवत्ता में भी बढ़ोतरी होती है।

यूरिया गोल्ड fertilizer को प्रभावी तरीके से उपयोग में लाने के लिए किसान मिट्टी की जांच सबसे पहले करवा लें।

इसके बाद कृषि विशेषज्ञ या किसान सलाहकार से सलाह लेते हुए पर्याप्त मात्रा में इसे उपयोग में लाएं।

 

दूसरे उर्वरक से बेहतर है…
  • यूरिया गोल्ड यानी सल्फर कोटेड यूरिया से नाइट्रोजन की मात्रा धीरे धीरे रिलीज होती है। यूरिया गोल्ड में अगर ह्यूमिक एसिड मिला दिया जाए तो इसका जीवनकाल बढ़ जाता है।
  • यूरिया गोल्ड का सामान्य यूरिया की जगह उपयोग करना भी एक बेहतर विकल्प है।
  • यूरिया गोल्ड के उपयोग करने से मिट्टी में उर्वरक प्रयोग में कमी आती है। उर्वरक का उपयोग कम होने से किसानों के लागत में भी कमी आती है।
  • एक रिपोर्ट के मुताबिक यूरिया गोल्ड की 15 किलो मात्रा, सामान्य यूरिया की 20 किलोग्राम मात्रा के बराबर होती है।

 

यूरिया गोल्ड पर मिलेगी सब्सिडी

सरकार यूरिया गोल्ड पर मिलने वाली सब्सिडी पर भी विचार कर रही है। यूरिया गोल्ड से जुड़े विभिन्न इश्यूज को एड्रेस करने के लिए उच्च स्तरीय अंतर मंत्रालयी समिति का गठन करने पर सरकार ने विचार किया है।

इससे यूरिया गोल्ड के कीमत का निर्धारण और सब्सिडी का निर्धारण किया जा सकेगा।

यूरिया की बोरी पर अभी 2000 रुपए की सब्सिडी है। Urea gold fertilizer price किसानों को 250 से 300 रुपए में यूरिया मिलता है।

सब्सिडी पर कृषि यंत्र लेने के लिये आवेदन करें किसान