हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें
WhatsApp Group Join Now

प्राकृतिक आपदा से खराब हुई फसल, बीमा योजना ने किसानों को संभाला

 

फसल बीमा योजना

 

मध्य प्रदेश में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लाभार्थियों ने साझा किए अपने अनुभव, 49 लाख क्लेम पर 7618 करोड़ रुपए की रकम किसानों के बैंक अकाउंट में की गई है ट्रांसफर.

 

फसल नुकसान होने से परेशान मध्य प्रदेश के किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का सहारा मिला है. 

किसानों के बैंक खाते में खरीफ 2020 और रबी 2020-21 के दौरान के 49 लाख क्लेम पर 7618 करोड़ रुपए की रकम ट्रांसफर की गई.

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि पहले की सरकार ने बीमा कंपनियों को अपने हिस्से की प्रीमियम की राशि नहीं दी थी.

इस वजह से किसानों को बीमा का क्लेम नहीं मिल पाया था.

पूर्व की सरकारों ने फसल खराब होने पर सर्वे तक नहीं कराया, जबकि वर्तमान में राज्य सरकार ने केवल बैतूल जिले में ही एक लाख 28 हजार 474 किसानों को 306 करोड़ 78 लाख रुपए से अधिक राशि प्रधानमंत्री बीमा योजना में उपलब्ध कराई है.

फसल मुआवजा मिलने के बाद किसानों ने खुशी जाहिर की. उन्होंने अपने अनुभव साझा किए.

 

बैतूल जिले के भैंसदेही विकासखंड के ग्राम मच्छी निवासी किसान सायमू चावरे बहुत खुश हैं.

उनकी खुशी का कारण है प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत मिली 72 हजार 96 रुपए की दावा राशि.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बैतूल में आयोजित कार्यक्रम में जब सायमू को फसल बीमा राशि ट्रांसफर का प्रमाण-पत्र दिया, तो उसकी खुशी का ठिकाना न रहा.

सायमू बताते हैं कि पिछले वर्ष उसकी 10 एकड़ क्षेत्र में लगी सोयाबीन की फसल पीला मोजेक कीट व्याधि के कारण खराब हो गई थी.

सायमू दिन-रात इस चिंता में था कि कैसे वह अगली फसल की तैयारी करेगा, परिवार का पालन-पोषण कैसे करेगा और बच्चों को कैसे पढ़ा पाएगा.

सायमू अगली फसल के लिए कर्ज लेने के लिए सोच रहे थे, तभी आज फसल बीमा के 72 हजार रुपए उसके खाते में आ गए.

 

चिरोंजीलाल को मिले 2.78 लाख रुपए

बैतूल में प्रधानमंत्री फसल बीमा दावा राशि वितरण कार्यक्रम उन किसानों के लिए खुशियों की सौगात लेकर आया, जिनकी फसल पिछले वर्ष पीला मोजेक कीट रोग और असमय की बारिश से खराब हो गई थी.

इन्हीं किसानों में से एक हैं चिरोंजीलाल नागले. नागले की खुशी तब दोगुनी हो गई जब उन्हें मंच पर बुलाकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने फसल बीमा दावा राशि का प्रमाण-पत्र दिया. आज ही उनके खाते में 2.78 लाख रुपए की दावा राशि ट्रांसफर कर दी गई है.

 

अब चिरोंजीलाल खुशी से फूला नहीं समा रहे. वह कहते हैं कि पहले फसल बीमा में कुछ सैकड़ा या हजार रुपए मुश्किल से मिलते थे.

अब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सरकार में किसानों को फसल बीमा में लाखों रुपए की राशि मिल रही है, जो सराहनीय है.

 

सौरभ बागड़े को मिले पौने दो लाख

आठनेर निवासी किसान सौरभ बागड़े के खाते में भी आज पौने दो लाख रुपए की बीमा दावा राशि जमा हुई है.

कुल 9 हेक्टेयर क्षेत्र में सोयाबीन फसल खराब होने से सौरभ का बहुत नुकसान हुआ था.

आज उसे बीमा राशि मिलने से उसके दु:ख और निराशा का अंत हुआ है.

 

इन्हें भी मिला बीमा क्लेम

इसके अलावा शाहपुर तहसील के ग्राम खोकरा निवासी मदरा वरकड़े को फसल बीमा की 23 हजार 568 रुपए की राशि और चिचोली विकासखंड के ग्राम अटारी निवासी दशरथ उघड़े को 67 हजार 816 रुपए की बीमा राशि मिली.

रामू धुर्वे को 37 हजार, अमित जितपुरे को 3 लाख 40 हजार, भीमराव बागड़े को पौने दो लाख, दौलत डहारे को 2 लाख 16 हजार, बंशीलाल खाकरे को 1 लाख 95 हजार तथा बांसनेरकलां निवासी श्रीराम को 1 लाख 79 हजार की बीमा राशि का प्रमाण-पत्र मुख्यमंत्री चौहान ने सौंपा और उनके खाते में राशि ट्रांसफर की गई.

 

इस किसान को मिले 3.40 लाख

बैतूल जिले के आठनेर ब्लॉक के कृषक श्री भैयालाल जैतपूरे के खाते में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत बीमा क्लेम की 3 लाख 40 हजार 164 रुपए की राशि ट्रांसफर की गई गई.

उनकी 50 एकड़ रकबे की सोयाबीन फसल कीट प्रकोप से 60 प्रतिशत खराब हो जाने से काफी परेशान रहे.

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में 17.30 हैक्टेयर भूमि का फसल बीमा जो उनके लिए काफी मददगार साबित हुआ.

सी के चलते आज उनकी दिन-रात की कड़ी मेहनत और फसल नुकसानी की भरपाई हो पाई.

source

यह भी पढ़े : e uparjan mp किसान ऑनलाइन पंजीयन समर्थन मूल्य खरीदी | 2022-23

 

यह भी पढ़े : किसान सम्मान निधि के लिए होगा सोशल ऑडिट

 

शेयर करे