हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

जानें नींबू की इस खास किस्मों के बारे में

नींबू की खेती के लिए दोमट मिट्टी उपयुक्त होती है. आइये आपको इसकी विभिन्न प्रकार की किस्मों के बारे में बताते हैं.

 

नींबू की खेती

नींबू की खेती काफी बड़े स्तर पर की जाती है. यह पीले रंग का बहुत ही खट्टा और चटपटे स्वाद का होता है.

इसका इस्तेमाल चटनी, अचार और शरबत बनाने में किया जाता है. इसके अलावा इसे औषधीय गुणों के लिए भी जाना जाता है.

इसकी खेती के लिए कम देखभाल की जरुरत होती है.

आज हम आपको इस विभिन्न प्रकार की किस्मों और उनकी जुड़ी खासियत के बारे में बताने जा रहे हैं.

 

नींबू की किस्म

गोंधोराज लेबू

इस नींबू की किस्म की खेती बंगाल में ज्यादातर होती है. गोंधोराज लेबू की खेती यहां बड़े मात्रा में की जाती है.

इसके छिलके मोटे और काफी मजबूत होते हैं. इसकी खुशबू काफी अच्छी होती है.

इसका इस्तेमाल बंगाल के डाक्टर औषधि बनाने में करते हैं.

 

नेपाली गोल

नेपाली गोल किस्म के नींबू की खेती भारत के दक्षिणी राज्यों में उगाई जाती है.

इस नींबू में अन्य नींबू की तुलना में काफी ज्यादा रस होता है.

इस किस्म का नाम नेपाली है लेकिन यह दक्षिणी राज्यों में बहुत ही प्रसिद्ध है.

 

मौसंबी नींबू

इस नींबू आकाक मौसंबी की तरह होता है. यह सबसे आसानी से मिलने वाली किस्म है.

इसे आप किसी भी फल या सब्जियों की दुकान पर आसानी से खरीद सकते हैं.

यह नींबू के प्रमुख किस्मों में एक जो स्वाद में हल्का कड़वा और मीठा होता है.

 

शरबती नींबू

इस नींबू कि छिलके काफी मोटे होते हैं और इनका रस काफी मीटा होता है.

इसकी खेती मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ राज्यों में ज्यादा होता है. इसका उपयोग ज्यादातर आचार बनाने के लिए किया जाता है.

 

काजी नींबू

यह असम राज्य का प्रसिद्ध नींबू है. इस पौधे को तैयार होने में एक साल तक का समय लग जाता है.

अन्य नींबू की तुलना में यह काजी नींबू अधिक रसदार और ताजा होता है. इसका इस्तेमाल भी जूस और आचार बनाने में किया जाता है.

देखे बैटरी से संचालित लहसुन कटिंग मशीन