हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

गाय-भैंस नहीं, उनके गोबर की कीमत में हुई बढ़ोतरी

गोबर की मांग बढ़ रही है, इसलिए इसकी कीमत भी बढ़ रही है.

बीते 10 वर्षों का आंकड़ा देखें तो आपको पता चलेगा कि गोबर के दाम में लगातार बढ़ोतरी हुई है.

 

सरकार का एक कदम और किसानों की हो गई चांदी

भारतीय किसान तेजी से जैविक खेती की ओर जा रहा है.

जैविक खेती यानी इसमें रासायनिक उर्वरकों की जगह जैविक खाद या गोबर वाले खाद के इस्तेमाल से फसल उगाई जाती है.

इसके साथ ही गोबर के इस्तेमाल से कई और चीजें भी की जा रही हैं, इसलिए आजकल बाजार में गोबर की डिमांड बढ़ गई है और किसानों को इससे मोटा मुनाफा हो रहा है.

तो चलिए आपको बताते हैं कि कैसे आप गाय भैंस के गोबर से हर महीने अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं.

 

गोबर की कीमत बढ़ रही है

गोबर की मांग बढ़ रही है, इसलिए इसकी कीमत भी बढ़ रही है.

बीते 10 वर्षों का आंकड़ा देखें तो आपको पता चलेगा कि गोबर के दाम में लगातार बढ़ोतरी हुई है. दरअसल, इसके पीछे कई कारण है.

सबसे बड़ा कारण है कि केंद्र और राज्य सरकारें अब गोबर खरीद के लिए नई नई योजनाएं बना रही हैं.

इसके साथ ही गोबर को अब ऊर्जा के स्त्रोत के तौर पर भी प्रोत्साहित किया जा रहा है.

गोबर की कीमत इसलिए भी बढ़ रही है, क्योंकि बीते कुछ समय में बायोगैस और बायो फर्टिलाइजर बनाने के लिए गोबर की मांग तेजी से बढ़ी है.

 

भविष्य में और बढ़ेगी गोबर की कीमत

एक्सपर्ट्स का मानना है कि जिस तरह से गोबर की डिमांड बढ़ रही है और उससे तमात तरह की चीजें बनाई जा रही हैं, उसे देख कर लगता है कि आने वाले समय में गोबर की कीमत और बढ़ेगी.

दरअसल, हाल ही में एक कंपनी ने गोबर से लकड़ी बनाने की प्रक्रिया शुरू की है, जिसका इस्तेमाल अन्त्येष्टि में किया जा रहा है.

अगर यह प्रयोग सफल रहा तो हर साल कई करोड़ पेड़ कटने से बच जाएंगे और गोबर का भी सही इस्तेमाल हो जाएगा.

इसके साथ ही किसानों को गोबर की सही कीमत भी मिल जाएगी, जिसका प्रयोग वह अपनी कृषि को उन्नत बनाने में कर सकेंगे.

यह भी पढ़े : नहीं बढ़ेंगे यूरिया एवं डीएपी खाद के दाम

 

यह भी पढ़े : इस योजना में किसानों को मिलेंगे 3 लाख रुपये

 

शेयर करें