हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें
WhatsApp Group Join Now

MP Weather: आज 13 जिलों में बारिश के आसार, जानें अपने शहर का हाल

 

यहां चक्रवात का अलर्ट

 

दिसंबर का महीना लगते ही मध्य प्रदेश का मौसम एकदम से बदल गया है और  अरब सागर और बंगाल की खाड़ी में बने वेदर सिस्टम के कारण बारिश का दौर शुरु हो गया है।

एमपी मौसम विभाग ने आज शुक्रवार 3 दिसंबर 2021 को 13 जिलों में बारिश की संभावना जताई है।

वही बादल छंटने के बाद से रात का पारा और नीचे आएगा।

हालांकि, अधिकतम तापमान ज्यादा नीचे नहीं आएगा। आने वाले दिनों में कड़ाके की ठंड़ पड़ने के आसार है।

 

बारिश के आसार

मौसम विभाग की मानें तो पश्चिम विक्षोम के कारण आज शुक्रवार 13 जिलों रीवा, छिंदवाड़ा, पन्ना, छतरपुर, बैतूल, झाबुआ, रतलाम, उज्जैन, नीमच, मंदसौर, शिवपुरी, ग्वालियर, श्योपुर में बारिश के आसार है।

वर्तमान में हवा का रुख उत्तर-पूर्वी और दो किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से चल रही है।

अरब सागर में कम दबाव का क्षेत्र खत्म हो चुका है और बंगाल की खाड़ी में बना चक्रवाती घेरे का ज्यादा असर इंदौर या मध्य प्रदेश को तक नहीं होगा।

वर्तमान में पश्चिमी विक्षोभ पाकिस्तान के ऊपर है, जो 4 दिसंबर तक जम्मू कश्मीर में असर दिखाएगा। इसके बाद ठंड का कहर बढ़ने और शीत लहर के आसार है।

 

कहाँ कितनी बारिश हुई

मौसम विभाग के अनुसार,  गुरुवार को इंदौर संभाग में सबसे अधिक इंदौर जिले में 9.1 मिलीमीटर बारिश हुई।

वहीं धार में 6.4 मिलीमीटर, खंडवा में 6 मिलीमीटर, गुना में 1.8 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई।

वही मावठे की अचानक दस्तक के बाद खरगोन जिले की 10 तहसीलों में से 08 तहसीलों में हल्की बारिश के साथ-साथ कहीं-कहीं झमाझम बारिश भी हुई हैं।

भू-अभिलेख कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार सबसे अधिक सेगांव में 18 एमएम, महेश्वर में 17.8 एमएम, खरगोन में 17.6 एमएम, कसरावद में 15 एमएम, भगवानपुरा में 12 एमएम, गोगांवा में 07 और बड़वाह और सनावद में 3-3 एमएम वर्षा दर्ज की गई।

जबकि भीकनगांव और झिरन्या में सिर्फ बादल छाए रहे। 08 तहसीलों में औसत वर्षा 9.3 एमएम दर्ज की गई।

01 जून से 01 दिसम्बर तक की स्थिति में जिले में कुल 660.3 एमएम वर्षा हुई हैं। जिले की औसत वर्षा 825.2 एमएम निर्धारित है।

 

तापमान में उतार-चढ़ाव का दौर जारी

इंदौर में मौसम खराब होने के चलते पिछले 2 दिनों से फ्लाइट्स का समय गड़बड़ा गया।

आज शुक्रवार सुबह को भी इंदौर से जबलपुर जाने वाली इंडिगो की उड़ान अपने तय समय से देरी से रवाना हुई। 

इंदौर में शुक्रवार सुबह न्यूनतम तापमान सामान्य से एक डिग्री अधिक 13.4 डिग्री दर्ज किया गया, वहीं अधिकतम तापमान सामान्य से 13 डिग्री कम 16 डिग्री दर्ज किया गया।

7 बजे इंदौर में दृश्यता न्यूनतम 2000 मीटर दर्ज हुई और पूर्वी हवाएं औसतन 8 से 10 किलोमीटर प्रति घंटा की गति से चली।

इसके अलावा जबलपुर में गुरुवार को अधिकतम तापमान 27.2 डिग्री से कुछ कम होकर 26.6 डिग्री और न्यूनतम तामपान 13.2 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया।

आज शुक्रवार को सुबह 8:30 बजे तक अधिकतम पारा 17 और न्यूनतम 16 डिग्री रिकार्ड किया गया।

वही गुरुवार को रतलाम में बारिश से दिन का तापमान 24 घंटे में 6 डिग्री कम हो गया।यहां अधिकतम और न्यूनतम तापमान में सिर्फ 6 डिग्री का अंतर देखने को मिला।

 

चक्रवात को लेकर अलर्ट, ट्रेनें रद्द

भारतीय मौसम विभाग के अनुसार, दिसंबर 2021 से फरवरी 2022 के दौरान सर्दियों को लेकर अनुमान जताया है।

वही साल के आखिर में भी नए तूफान ‘जवाद’ का खतरा मंडरा रहा है, मौसम विभाग ने चक्रवात ‘जवाद’ की ओडिशा तट पर चेतावनी जारी की है।

IMD ने भविष्यवाणी की है कि चक्रवात ‘जवाद’ उत्तर-पूर्व की तरफ मुड़ने और पश्चिम बंगाल, बांग्लादेश की ओर बढ़ने से पहले शनिवार शाम और रविवार सुबह के बीच पुरी जिले में दस्तक दे सकता है।

ओड़िशा के 4-5 जिलों में रेड अलर्ट जारी किया है, जबकि कुछ जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।मछुआरों को भी अगले 3 दिनों तक समुद्र से दूर रहने को कहा है।

भारतीय रेलवे ने यात्रियों की सुरक्षा के चलते 3-4 दिसंबर की कई स्पेशल ट्रेनों को रद्द कर दिया है।

source : mpbreakingnews

 

यह भी पढ़े : गेहूं की इन 5 उन्नत किस्मों की करिए खेती

 

यह भी पढ़े : मध्य प्रदेश में फसल बीमा कराने के लिए अब लगेगी किसान चौपाल

 

शेयर करे